भिवाड़ी के श्री गुरु सिंह सभा गुरुद्वारा में धूमधाम से मनाया गया सिखों के पहले गुरु श्री गुरु नानक देव जी का प्रकाश दिवस

Advertisement

 

NCRkhabar@Bhiwadi. भगत सिंह कॉलोनी भिवाड़ी (Bhagat Singh Colony Bhiwadi) में स्थित श्री गुरु सिंह सभा गुरुद्वारा (Shri Guru Singh Sabha) में सिखों के पहले गुरु श्री गुरु नानक देव जी (Shri Gurunanak Dev Ji) का प्रकाश दिवस धूमधाम से मनाया गया। गुरुद्वारे में सोमवार सुबह दस बजे पिछले 21 नवम्बर से चल रहे श्री अखंड पाठ साहिब का भोग लगाया गया और दोपहर 2 बजे तक कीर्तन दरबार में शाहबाद से भाई सुरजीत सिंह, भिवाड़ी से भाई अवतार सिंह, भाई गुरपाल सिंह रागी, भाई सतनाम सिंह, बंगला साहब से भाई महेंद्र सिंह और शामिल हुए। मुख्य ग्रन्थी बाबा सुरजीत सिंह ने कहा कि सिख धर्म के पहले गुरु और संस्थापक गुरु नानक देव की जयंती कार्तिक पूर्णिमा के दिन बड़े धूमधाम के साथ मनाई जाती है। इस पवित्र दिन को लोग प्रकाश उत्सव और गुरु पर्व के रूप में मनाते हैं। सिख धर्म को मानने वाले लोगों के लिए यह दिन बेहद खास होता है। इस दिन गुरुद्वारों में कीर्तन किए जाते हैं और गुरुवाणी का पाठ किया जाता है। साथ ही जगह-जगह लंगरों का आयोजन होता है। गुरु नानक देव बचपन से ही धार्मिक प्रवृति के थे। उन्होंने अपना पूरा जीवन मानव समाज के कल्याण में लगा दिया था। आज भी लोग इनके द्वारा बताए गए मार्ग पर चलते हैं। आज श्री गुरु सिंह सभा गुरुद्वारा में कीर्तन दरबार में हजारों श्रद्धालु भिवाड़ी और भिवाड़ी के आसपास इलाकों से एकत्रित हुए और सब ने मिलकर बाद में लंगर प्रसाद छका। वाहेगुरु जी से सारे जगत में शान्ति बनी रहे जाने की अरदास भी की गई।  इस मौके पर श्री सिंह सभा गुरुद्वारा कमेटी एवं पंजाबी सभा के गुरनाम सिंह, बलबीर सिंह, गोविंद चांदना, बीके नागपाल, महेंदर गोसाईं, दिनेश बेदी, स्वरूप सिंह, निर्मल सिंह, जसपाल सिंह, फतेह सिंह, मिल्खा सिंह, परमिंदर सिंह, कुलबीर सिंह, मनीष बजाज, डॉ सागर अरोड़ा,  सुखजीत सिंह, गुरविंदर सिंह उर्फ गोल्डी, रणजोत सिंह, लवप्रीत सिंह, रमनप्रीत कौर, अनिल वाधवा, दीपक चौधरी, अमित सिंह, सुखप्रीत कौर, पोरस सिंह, जसबीर सिंह, लव खन्ना, मलकियत सिंह, रनजोत सिंह, तरसेम दीपक इंडस्ट्रीज, सुखी व मनप्रीत सिंह सहित कई गणमान्य लोग मौजूद थे।

Advertisement

भिवाड़ी के भगतसिंह कॉलोनी स्थित गुरुद्वारे में आयोजित गुरुनानक जी के प्रकाश पर्व में शामिल श्रद्धालु।

 

Leave a Comment

Advertisement
चुनाव विकास के आधार पर लड़ा जाना चाहिए या सांप्रदायिकता पर।
  • Add your answer
Advertisement