तिजारा से विधायक बनकर राजस्थान के मुख्यमंत्री बने थे बरकतुल्लाह खां, क्या चार दशक बाद फिर दोहराएगा इतिहास

Advertisement
 
 
NCRkhabar@Bhiwadi. राजस्थान की तिजारा विधानसभा सीट शुरुआत से ही महत्वपूर्ण सीट मानी जाती है। तिजारा विधानसभा क्षेत्र से चार दशक पहले विजयी बरकतुल्लाह खां (Barkatullah Khan) राजस्थान के मुख्यमंत्री बनाए गए थे जबकि यहां से जीते कई विधायक मंत्री पद को सुशोभित कर चुके हैं। बरकतुल्लाह खां के मुख्यमंत्री बनने के बाद ही तिजारा के विकास को पंख लगे थे और आज तिजारा विधानसभा क्षेत्र (Tijara Assembly Area) का कस्बा भिवाड़ी देश-दुनिया के औद्योगिक मानचित्र पर अलग पहचान बनाए हुए है। 
Advertisement
इस बार भी तिजारा विधानसभा क्षेत्र से चुनाव जीतने वाले फायर ब्रांड नेता बाबा बालकनाथ (Baba Balaknath) को मुख्यमंत्री पद का प्रबल दावेदार माना जा रहा है। सोशल मीडिया पर बाबा बालकनाथ को मुख्यमंत्री पद के लिए अभियान चलाया जा रहा है। उधर यहां के लोगों की चाहत है कि बाबा बालकनाथ को मुख्यमंत्री बनाया जाना चाहिए, जिससे तिजारा का सर्वांगीण विकास हो सके। उन्हें उम्मीद है कि चार दशक बाद तिजारा पुनः राजस्थान का सितारा बन सकता है। बाबा बालकनाथ यादव समाज से आते हैं और पार्टी उन्हें मुख्यमंत्री बनाकर पिछड़े वर्ग का कार्ड खेल सकती है। बाबा के चुनाव से पहले और सोशल मीडिया पर वायरल कई वीडियो उनकी कट्टर हिंदुत्ववादी छवि को उजागर कर रहे हैं। इस कारण वह युवाओं में खासे लोकप्रिय हैं तथा लोग उन्हेंयूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की तरह फायर ब्रांड नेता के तौर पर देख रहे हैं।
 
रास्जथान के पहले मुख्यमंत्री बने थे बरकतुल्लाह खां

तिजारा विधानसभा क्षेत्र से 1972 में बरकतुल्लाह खां विधायक चुन प्रदेश के मुख्यमंत्री बने। हालांकि मुख्यमंत्री के रूप में उनका कार्यकाल ज्यादा लम्बा नहीं रह सका और वर्ष 1973 में आकस्मिक निधन हो गया। मुख्यमंत्री का उनका कार्यकाल भले ही छोटा रहा हो, लेकिन भिवाड़ी औद्योगिक क्षेत्र की नींव रखी, जिस कारण अलवर जिले की प्रदेश ही देश-विदेश के उद्योग जगत में पहचान कायम हो पाई। उनके पिता जोधपुर स्टेट के प्राइम मिनिस्टर थे, इनकी शिक्षा जोधपुर में हुई, इसके बाद लखनऊ यूनिवर्सिटी से लॉ की पढ़ाई की। वे प्रथम अल्पसंख्यक मुख्यमंत्री बने। उनकी सभी समाजों में अच्छी पैठ थी। पूर्व मुख्यमंत्री बरकतुल्लाह खां के नाम पर वर्तमान में जोधपुर में पाल रोड पर रावण का चबूतरा के पास अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम है।

Leave a Comment

Advertisement
चुनाव विकास के आधार पर लड़ा जाना चाहिए या सांप्रदायिकता पर।
  • Add your answer
Advertisement