चौपानकी में बच्चों के विकास में सहायक बहु गतिविधि केंद्र का उदघाटन, टाटा ब्लूस्कोप स्टील के प्लांट हेड दलीप खुराना ने किया

Advertisement

 

NCRkhabar@Bhiwadi. शिक्षा से वंचित बच्चों के बहुमुखी विकास और उन्हें मुख्यधारा से जोड़ने के लिए बाल रक्षा भारत और टाटा ब्लूस्कोप स्टील (Tata Blue scope Steel) के सहयोग से बच्चों के लिए संचालित बहु गतिविधि केंद्र का चौपानकी (Chopanki) में उदघाटन किया गया। टाटा ब्लूस्कोप स्टील के प्लांट हैड दलीप खुराना (Dalip Khurana, Plant Head Tata Blue Coope) ने कार्यक्रम में उपस्थित बच्चों व समुदाय के सदस्यों को संबोधित करते हुए कहा कि टाटा औद्योगिक समूह सदैव सामाजिक हित में काम करता रहा है। सामुदायिक विकास और वंचित वर्ग को मुख्यधारा से जोड़ना टाटा समूह की प्राथमिकता रही है। इसी कड़ी में हमने मज़दूरी करने वाले, सामाजिक और आर्थिक रूप से पिछड़े वर्ग के बच्चों को शिक्षा से जोड़ने के लिए बहु गतिविधि केंद्र का शुभारंभ किया गया है। बाल रक्षा भारत की राजस्थान, मध्यप्रदेश और महाराष्ट्र की राज्य प्रमुख नीमा पन्त ने बताया कि देश के 16 राज्यों में बाल अधिकारों के संरक्षण के लिए संस्था कार्यरत है। बच्चों की शिक्षा, स्वास्थ्य और सुरक्षा संस्था का प्रमुख उद्देश्य है। परियोजना के समन्वयक नीरज जुनेजा ने कहा कि बहु गतिविधि केंद्र समुदाय के बीच में ही स्थापित किया जा रहा है ताकि स्कूल ना जाने वाले बच्चों को इन केंद्रों पर आधारभूत शिक्षा दे कर मुख्यधारा से जोड़ा जा सके। केंद्र की एकेडेमिक सपोर्ट फेलो मीना कुमारी बच्चों को गतिविधि आधारित शिक्षा दे रही है ताकि बच्चे खेल-खेल में विभिन्न विषयों की जानकारी हासिल कर सके। उद्धाटन समारोह में नैना, शिवानी और इनाया ने कहानियां और कविताएं सुनाई। नन्ही इनाया की एक्शन कविताओं की प्रस्तुति ने सभी का मन मोह लिया। छात्रा आरती की मम्मी ने कहा कि बच्चे केंद्र से जुड़ कर स्वच्छता की बातें भी सीख रहे हैं और अब वे खुल कर बोलने लगे हैं। इस अवसर पर बाल रक्षा भारत के कम्युनिकेशन मैनेजर डॉ हेमन्त आचार्य और टाटा ब्लूस्कोप स्टील के अधिकारी रश्मि, रविन्द्र, ओम कौशिक, भवानी सिंह, हेमन्त जंगा, विजेंद्र यादव, राजेश सैनी आदि उपस्थित थे।

Advertisement
चौपानकी में बहु गतिविधि केंद्र का उदघाटन करते दलीप खुराना।

 

Leave a Comment

Advertisement
चुनाव विकास के आधार पर लड़ा जाना चाहिए या सांप्रदायिकता पर।
  • Add your answer
Advertisement