भिवाड़ी में धूमधाम से मनाई गई श्री गुरु गोविंद सिंह जयंती, गुरुद्वारे में हुए कई कार्यक्रम

Advertisement

NCRkhabar@Bhiwadi. कस्बे के भगत सिंह कॉलोनी स्थित गुरुद्वारा साहिब (Gurudwara Sahib)  में सिखों के दसवें गुरु श्री गुरु गोविंद सिंह (Guru Govind Singh) की जयंती धूमधाम से मनाई गई। गत 5 जनवरी से चल रहे अखंड पाठ का भोग लगाया गया और कीर्तन दरबार भी सजाया गया भिवाड़ी और आसपास के क्षेत्र से काफी संख्या में संगत ने लंगर प्रसाद भी ग्रहण किया। बाबा सुरजीत सिंह ने बताया कि आज गुरु गोविंद सिंह जी की जयंती पर सरदार सतपाल सिंह, सरदार सतनाम सिंह, सरदार गुरपाल सिंह और बाबा सुरजीत सिंह शाहवादी ने कीर्तन दरबार लगाया। गुरुद्वारे के मुख्य ग्रन्थी बाबा सुरजीत सिंह ने सिखों के दसवें गुरु गोविंद सिंह की जीवनी पर प्रकाश डाला और आई हुई सारी संगत को लोहड़ी की बधाई दी। उन्होंने कहा श्री गोविंद सिंह ने हिंदुओं की रक्षा करने के लिए खालसा पंथ की स्थापना की थी और उन्होंने ही खालसा वाणी – “वाहेगुरु जी का खालसा, वाहेगुरु जी की फतह” दी। गुरु गोविंद सिंह ने सिख धर्म के पवित्र ग्रंथ गुरु ग्रंथ साहिब जी को पूरा किया। इसी के साथ खालसा पंथ ने हिंदुओं की रक्षा के लिए मुगलों और उनके सहयोगियों से 14 बार लड़े। गुरु गोविंद सिंह एवं उनके परिवार ने हिंदू धर्म की रक्षा के लिए कुर्बानी भी दी उसे कभी भी भुलाया नहीं जा सकता। इस मौके पर सरदार गुरनाम सिंह, सरदार बलवीर सिंह, दिनेश बेदी, सरदार हरप्रीत सिंह, सरदार अमनदीप सिंह, सरदार कुलबीर सिंह, सरदार जसपाल सिंह, सरदार परमिंदर सिंह, रवि सिंह, संजय कुमार, सरदार लवप्रीत सिंह, सरदार सुखजीत सिंह, निर्मल सिंह, बाबा हरजिंदर सिंह, सरदार जसवीर सिंह, मलकीत सिंह, लव खन्ना सहित कई गणमान्य लोग उपस्थित थे।
Advertisement

Leave a Comment

Advertisement
चुनाव विकास के आधार पर लड़ा जाना चाहिए या सांप्रदायिकता पर।
  • Add your answer
Advertisement