खैरथल-तिजारा पुलिस की बड़ी कार्रवाई, बावरिया गैंग पलवल के मुखिया समेत दो नकबजन गिरफ्तार

Advertisement

भिवाड़ी। मुंडावर थाना पुलिस (Mundawar Police Station) व खैरथल-तिजारा डीएसटी (Khairthal-Tijara DST) ने संयुक्त रूप से कार्रवाई करते हुए थाना मुण्डावर ने संयुक्त कार्यवाही करते हुए जिला खैरथल तिजारा एवं हरियाणा में हुई नकबजनी की वारदात का खुलासा करते हुए दो आरोपियों को गिरफ्तार कर उनके कब्जे से दो बाईक जब्त किया है। पुलिस की गिरफ्त में आए पलवल की बावरिया गैंग के मुखिया पलवल जिले के हसनपुर थाना क्षेत्र के परसा का नंगला निवासी लाला कर्मपाल बावरिया एवं रेवाड़ी जिले के बावल थाना क्षेत्र के मोहम्मदपुर गांव निवासी अमित पुत्र रतिराम उर्फ बलबीर बावरिया ने करोड़ों रुपए की आभूषण व नकदी चोरी की वारदात को अंजाम दिया है। सरगना लाला बावरिया के खिलाफ पूर्व में भी पुलिस थानों में मामला दर्ज है।
Advertisement
खैरथल-तिजारा एसपी सुरेंद्र सिंह ने पिछले 6 माह से जिला खैरथल तिजारा में कई गाँवो, कस्बो में लगातार रात्रि को बढ रही चोरी एवं नकबजनी के अज्ञात आरोपियों को पकड़ने के लिए  डीएसटी टीम खैरथल तिजारा को आदेश दिया था। इसके बाद डीएसटी टीम लगातार चोरी हुये घटनास्थलो का निरीक्षण कर घटनास्थल से आने जाने वाले रास्तो पर लगे सीसीटीवी कैमरो को खंगाला गया एवं हरियाणा के सीमावर्ती गांवों से आने जाने वाले रास्तो के फुटेज खंगाले गये। इसके बाद बोर्डर से लगते हुए गाँवो में निवास कर रहे आपराधिक प्रवृति के बाहरी लोगो को चिन्हित किया गया और सकिय गैंगो के बारे में जानकारी जुटाते हुए हरियाणा के पलवल, सोहना, फरीदाबाद, रेवाडी, बावल, महेन्द्रगढ इलाको में निवास कर रहे चोरी एवं नकबजनी के आदतन अपराधियो के अपराध करने के तरीके एवं दिनचर्या के बारे में जानकारी जुटाई गई। डीएसटी टीम को मुखबीर खास की मदद से सूचना मिली जिला खैरथल तिजारा में रात्रि को हो रही चोरी व नकबजनी की घटनाये बावरिया गैंग द्वारा की जा रही है, तथा उक्त गैंग का मुखिया पलवल का लाला  बावरिया है।  लाला वर्तमान में अपने साथियो के साथ बावल इलाके में कमरा किराये पर लेकर रह रहा है, जिस पर अपराधी लाला बावरिया का डीएसटी टीम द्वारा काफी समय से पीछा किया जा रहा था, परन्तु हर बार अपराधी शातिर होने के कारण बार-2 जगह एवं मोबाइल बदल रहा था, परन्तु डीएसटी टीम ने लगातार अथक प्रयास करते हुए आरोपी लाला बावरिया को उसके साथी अमित के साथ गिरफतार करने में सफलता हासिल की है। वारदात में शरीक अन्य आरोपियों की तलाश जारी है।

इस तरह करते हैं वारदात

गैंग द्वारा दिन में गायें एवं कस्बों में जाकर कचरा उठाने एवं फेरी लगाने के बहाने रास्तो एवं मकानो को चिन्हित कर लेते है, तथा रात्रि में अपने 2 स्थान से अपने वाहनो से आकर एक जगह इक्टठा होकर गावें के बाहर वाहन को सुरक्षित स्थान पर छिपाकर पैदल-2 नंगे पैर गाँव में घुसते है, उसके बाद चिन्हित किये गये मकान में घुसकर जिस कमरो में परिवारजन सो रहे होते है, उसके कमरे को बाहर से बन्द कर, जिस कमरे मे बाहर ताला लगा होता है, उस कमरे का ताला तोडकर चोरी की वारदात को अन्जाम देते है। आरोपियो द्वारा जिला खैरथल तिजारा एवं हरियाणा राज्य में दर्जनो चोरी की वारदात स्वीकार की है। चोरी व नकबजनी की वारदात का खुलासा करने में एएसआई हरविलास की अहम भूमिका रही है।

पुलिस टीम में ये थे शामिल

राजस्थान व हरियाणा में सक्रिय बावरिया गैंग को पकड़ने वाली पुलिस टीम में मुंडावर एसएचओ एसआई जितेंद्र सिंह, एएसआई रविंद्र कुमार, डीएसटी प्रभारी खैरथल-तिजारा सद्दीक खां व एएसआई हरविलास, हेड कांस्टेबल सत्यपाल, कांस्टेबल महेश सैनी व कानिस्टेबल चालक ओमप्रकाश सहित अन्य पुलिसकर्मी शामिल थे।
खैरथल-तिजारा पुलिस की गिरफ्त में बावरिया गैंग के सदस्य।

खैरथल-तिजारा पुलिस की गिरफ्त में बावरिया गैंग के सदस्य।

Leave a Comment

Advertisement
चुनाव विकास के आधार पर लड़ा जाना चाहिए या सांप्रदायिकता पर।
  • Add your answer
Advertisement