अलवर बाईपास पर जलभराव की समस्या का नहीं हुआ समाधान, हरियाणा व राजस्थान के विवाद में नेशनल हाईवे बना गंदे पानी की झील

NCRkhabar@Bhiwadi.  भिवाड़ी के अलवर बाईपास (Alwar Bypass) पर गंदा पानी रोकने के लिए हरियाणा (Haryana) व राजस्थान (Rajasthan) ने रैंप बना दिया है, जिससे यहां से आवागमन बंद हो गया है। दोनों राज्यों का प्रशासन समस्या का स्थाई समाधान करने के बजाए एक-दूसरे पर दोषारोपण कर रहा है। गंदा पानी भरने से राष्ट्रीय राजमार्ग गन्दे पानी की झील बन गया है और सड़क क्षतिग्रस्त हो गई है लेकिन इसके बाद राष्ट्रीय राजमार्ग प्रशासन मौन धारण किए हुए है। हरियाणा सीमा में रैंप बनाने के बावजूद वाहन आसानी से निकल रहे थे लेकिन बाईपास तिराहे पर भिवाड़ी की ओर से बैरिकेडस पर मिट्टी डालकर काफी ऊंचा रैंप बना दिया है, जिससे बाईपास की तरफ से धारुहेड़ा जाने वाला रास्ता बंद हो गया है। ऐसे में अलवर रोड से आने वाले वाहन भगतसिंह कालोनी से होकर धारुहेड़ा (Dharuheda) की तरफ से जा रहे हैं। भिवाड़ी से धारुहेड़ा व रेवाड़ी के स्कूलों में पढ़ने के लिए रोज़ाना बड़ी संख्या में विद्यार्थी जाते हैं और फैक्ट्रियों में काम करने के लिए कर्मचारी एक-दूसरे राज्य में जाते हैं तथा ट्रकों का आवागमन होता है। नगर परिषद की ओर से मडपंप से जितना पानी निकाला जा रहा है, उससे ज़्यादा पानी पीछे से आ रहा है, जिससे जलभराव की समस्या खत्म नहीं हो रही है

अलवर बाईपास तिराहे पर जलभराव से आवागमन बंद।

गंदे पानी से होकर आ रहे हैं तीन हजार स्कूली बच्चे

अलवर बाईपास के निकट भिवाड़ी-सोहना राष्ट्रीय राजमार्ग पर स्थित मॉडर्न पब्लिक स्कूल के सामने गंदा पानी भरा रहने से तीन हजार से अधिक बच्चे व उनके अभिभावक प्रभावित हो रहे हैं। गंदे पानी की वजह से मॉडर्न स्कूल की चारदीवारी जर्जर हो रही है और दो माह पहले किसी ने दीवार तोड़ दिया था, जिससे गंदा पानी स्कूल में भर गया था। माडर्न स्कूल की ओर से भिवाड़ी पुलिस थाने में मामले की रिपोर्ट दर्ज करवाई गई थी लेकिन अभी तक दीवार तोड़ने वाले पकड़े नहीं गए हैं। माडर्न स्कूल के मुख्य द्वार के सामने पानी भरने के बाद महेश्वरी की तरफ तीसरे द्वार से बच्चे स्कूल में आते थे लेकिन अब उसके सामने भी पानी भरने लगा है। मॉडर्न स्कूल के प्रिंसिपल पी के साजू ने बताया कि 18 अक्टूबर से सीबीएसई क्लस्टर एथलेटिक्स प्रतियोगिता का आयोजन किया जाएगा, जिसमें डेढ़ हजार विद्यार्थी आएंगे। इसलिए गंदे पानी की निकासी के लिए प्रशासन को अवगत करवाया गया है लेकिन अभी तक समस्या जस की तस बनी हुई है।

भिवाड़ी के अलवर बाईपास तिराहे पर बनाया गया अवरोधक।

 भिवाड़ी में बनेगा 34 एमएलडी का एसटीपी

भिवाड़ी में घरेलू पानी को ट्रीट करने के लिए घरेलू पानी को ट्रीट करने के लिए  वसुंधरा नगर में 34 एमएलडी का नया सीवरेज ट्रीटमेंट प्लांट (एसटीपी) लगाया जाएगा। इसके लिए 178 करोड़ रुपए का टेंडर जारी किया गया है। नगर परिषद के सहायक पर्यावरण अभियंता अंकित श्रीवास्तव ने बताया कि नई दिल्ली की फर्म एनवायरो इन्फ्रा की ओर से बीडा के एसटीपी परिसर में 34 एमएलडी का सीवरेज ट्रीटमेंट प्लांट लगाने के अलावा खानपुर गांव में 2.5 एमएलडी का सीवरेज पंपिंग स्टेशन (एसपीएस) बनाया जाएगा। इसके अलावा गंदा पानी एसटीपी तक लाने व वापस भेजने के लिए 56 किमी. व  51 किमी की पाईप लाईन बिछाई जाएगी।

भिवाड़ी के अलवर बाईपास तिराहे पर बनी गंदे पानी की झील से गुजरते वाहन।

Leave a Comment