हरियाणा ने तोड़ी गंदा पानी रोकने के लिए बनाई मिट्टी की दीवार, भिवाड़ी में आ रहा है हरियाणा का गंदा पानी

NCRKhabar@Bhiwadi. हरियाणा के धारुहेड़ा सीमा में नेशनल हाईवे पर रैंप बनाने के बाद भिवाड़ी के गन्दे पानी को अपने यहां जाने से रोक दिया। यहां पर रैंप की निगरानी के लिए हरियाणा पुलिस के जवान तैनात किए गए हैं। उधर हरियाणा के ग्रामीण अपने गांवों का गंदा पानी भिवाड़ी में आने से रोकने के बजाए मनमानी पर उतर आए हैं। वहीं भिवाड़ी प्रशासन ने महेश्वरी, गुर्जर घटाल, कर्णकुंज, नारायण विहार व आकेड़ा सहित अन्य स्थानों पर मिट्टी डालकर हरियाणा से पानी आने पर रोक लगा दिया था लेकिन पुलिस के तैनात नहीं होने की वजह से हरियाणा के लोगों ने दुस्साहस करते हुए मिट्टी की दीवार को तोड़ दिया है,जिससे हरियाणा का गंदा पानी भिवाड़ी की तरफ आ रहा है। रविवार को कर्णकुंज, आकेड़ा, नारायण विहार व गुर्जर घटाल आदि सीमावर्ती स्थानों पर मिट्टी डालकर बनाए गए दीवार का जायजा लिया तो यहां पर मिट्टी हटाकर भिवाड़ी की तरफ़ गंदा पानी छोड़ा जा रहा है। वहीं कर्णकुंज गांव की कॉलोनी का पानी रास्ते पर भरा हुआ है, जिससे आने-जाने वालों को परेशानी हो रही है। भिवाड़ी से लगते हरियाणा के सीमावर्ती गांवों में बड़ी संख्या में श्रमिक कालोनियां बनी हुई हैं, लेकिन इन गांवों में सीवरेज ट्रीटमेंट प्लांट नहीं होने की वजह से घरेलू गंदा पानी भिवाड़ी औद्योगिक क्षेत्र के खुले नालों से होकर आता था लेकिन अब भिवाड़ी प्रशासन की तरफ से मिट्टी डालकर पानी आने से रोकने की वजह से इन गांवों की जल निकासी नहीं हो रही है। रविवार को अवकाश होने का फायदा उठाकर दीवार तोड़कर हरियाणा का पानी भिवाड़ी की तरफ छोड़ दिया गया है।

हरियाणा के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराने की हिम्मत नहीं जुटा सका भिवाड़ी प्रशासन

भिवाड़ी के गन्दे पानी के धारुहेड़ा में जाने को लेकर हरियाणा प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड ने गत 12 जुलाई व राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण ने 9 अगस्त को भिवाड़ी के अधिकारियों के खिलाफ सेक्टर छह पुलिस थाने में मामला दर्ज करवाया है। राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण ने दिल्ली-जयपुर हाईवे पर लगने वाले जाम व सड़क टूटने के लिए भिवाड़ी के दूषित पानी को जिम्मेदार ठहराया है। वहीं हरियाणा ने मनमाने तरीके से अलवर बाईपास के निकट धारुहेड़ा की सीमा में राष्ट्रीय राजमार्ग पर काफी ऊंचा रैंप बना दिया गया है और कर्णकुंज, आकेड़ा, नारायण विहार सहित अन्य गांवों का पानी भिवाड़ी औद्योगिक क्षेत्र के नालों में आ रहा है। इसके बावजूद भिवाड़ी प्रशासन हरियाणा के जिम्मेदार अधिकारियों के खिलाफ ना तो मामला दर्ज करवा सका है और ना ही रैंप बनाने के मामले को कोर्ट में चुनौती दे पाया है।

भिवाड़ी औद्योगिक क्षेत्र के निकट हरियाणा सीमा में मिट्टी डालकर बनाए गए अवरोधक को तोड़ने से आ रहा गंदा पानी।

Leave a Comment