‘युवाओं को खून गरम रखना पड़ेगा, आज करो या मरो की स्थिति है’, पलवल में हुई महापंचायत में पुलिस की चेतावनी का नहीं हुआ असर, वक्ताओं ने दिए भडकाऊ भाषण

NCRKhabar@Palwal. हरियाणा के नूंह में 31 जुलाई को हुई सांप्रदायिक हिंसा के बाद माहौल अभी तनावपूर्ण बना हुआ है। हरियाणा के गुरुग्राम, फरीदाबाद, नूंह, पलवल व रेवाड़ी सहित अन्य जिलों में उन्मादी लोग माहौल को खराब करने से गुरेज नहीं कर रहे हैं। हरियाणा सरकार भी हिंदू-मुस्लिम के बीच नफरत फ़ैलाने वालों के खिलाफ ठोस कार्रवाई नहीं कर रही है, जिससे डर की वजह से बड़ी संख्या में मुस्लिम समाज के लोग गुरुग्राम व आसपास के इलाकों से पलायन कर रहे हैं। पुलिस को हालात सामान्य करने के लिए कड़ी मशक्कत करनी पड़ रही है लेकिन इसके बावजूद माहौल खराब करने की कोशिश की जा रही है।

 

अगर आप उंगली उठाओगे तो हम आपके हाथ काट देंगे


इस बीच रविवार को नूंह-पलवल सीमा पर स्थित पलवल जिले के पोंडरी गांव में सर्व हिंदू समाज की महापंचायत हुई। पंचायत करने की इजाजत इस शर्त पर दी गई थी कि इसमें कोई नफरत भरे भाषण नहीं दिये जाएंगे, लेकिन ऐसा हो न सका। एनडीटीवी के मुताबिक महापंचायत के दौरान कुछ लोगों ने पुलिस की चेतावनी को नजरंदाज करते हुए धमकियां दीं। पंचायत में हरियाणा के गोरक्षक दल के नेता आचार्य आजाद शास्त्री ने भडकाऊ और विवादित बयान देकर पुलिस प्रशासन को खुली चुनौती दी है। शास्त्री ने सरकार से हथियारों के लाइसेंस दिए जाने की वकालत की है। उन्होंने कहा कि हमें यह सुनिश्चित करना चाहिए कि मेवात में सौ हथियारों के लाइसेंस दिए जाएं तथा बंदूक के नहीं बल्कि राईफल के लाईसेंस दिए जाएं, क्योंकि राइफ़लें लंबी दूरी तक फ़ायरिंग कर सकती हैं। आज करो या मरो की स्थिति है। युवाओं को कह रहा हूं, खून को गरम रखना पड़ेगा। इस देश का विभाजन हिंदू और मुसलमान के आधार पर हुआ था।

उधर महापंचायत के आयोजकों का दावा है कि वक्‍ताओं को नफरत भरे भाषण न देने की चेतावनी दी गई थी, लेकिन कुछ लोगों ने इसे नहीं माना। यहां बता दें कि महापंचायत में हिंसा में शिकार लोगों को इंसाफ दिलाने और 28 अगस्त को फिर से जलाभिषेक यात्रा शुरू करने पर चर्चा हुई। महापंचायत को देखते हुए बड़ी  संख्या में हरियाणा पुलिस और अर्धसैनिक बलों के जवान तैनात किये गए थे।पलवल के एसपी लोकेंद्र सिंह ने बताया कि हमने कई शर्तों के साथ पांच सौ लोगों के शामिल होने की अनुमति दी गई थी। उन्होंने कहा कि कोई हेट स्पीच नहीं देगा और अगर किसी ने हेट स्पीच दी तो तुरंत केस दर्ज किया जाएगा।

हरियाणा में पुलिस ने 393 लोगों को किया गिरफ्तार

हरियाणा में गत 31 जुलाई को हुई सांप्रदायिक हिंसा के संबंध में कुल 393 लोगों को गिरफ्तार किया गया है और 118 अन्य को हिरासत में लिया गया है। हरियाणा के गृह मंत्री अनिल विज ने शुक्रवार को एक बयान में कहा कि हरियाणा के नूंह, गुरुग्राम, फरीदाबाद, पलवल, रेवाड़ी, पानीपत, भिवानी और हिसार में 160 प्राथमिकियां दर्ज की गई हैं। नूंह के पुलिस अधीक्षक नरेन्द्र बिजारणिया ने बताया कि ब्रज मंडल हिंसा मामले के संबंध में जिले में 59 प्राथमिकियां दर्ज कर 218 लोगों को गिरफ्तार किया गया है।

Leave a Comment

[democracy id="1"]