प्रेसिडेंसी द इंटरनेशनल स्कूल (PIS) भिवाड़ी के वार्षिकोत्सव में दिखाई दिया आध्यात्म व विज्ञान का संगम

Advertisement

प्रेसीडेंसी स्कूल में आयोजित वार्षिकोत्सव में उपस्थित अतिथियों के साथ मैनेजर मनोज शर्मा, ममता मॉडर्न स्कूल दिल्ली की प्रिंसिपल पल्लवी शर्मा।

प्रेसीडेंसी स्कूल में आयोजित वार्षिकोत्सव में उपस्थित अतिथियों के साथ मैनेजर मनोज शर्मा, ममता मॉडर्न स्कूल दिल्ली की प्रिंसिपल पल्लवी शर्मा।

Advertisement

गोपीनाथ हॉस्पिटल के संचालक डॉ नीरज अग्रवाल का स्वागत करते प्रेसीडेंसी स्कूल के मैनेजर मनोज शर्मा व प्रिंसिपल शालिनी मल्होत्रा।

 

Educationdesk@ncrkhabar.com. भिवाड़ी के गौरव पथ पर स्थित प्रेसिडेंसी द इंटरनेशनल स्कूल (Presidency The International School) का वार्षिकोत्सव (Annual Function)  ‘ ज्ञान से विज्ञान की ओर’ एवं पुरस्कार वितरण समारोह शुक्रवार को धूमधाम से मनाया गया। वार्षिकोत्सव में ज्ञान एवं विज्ञान का संगम दिखाई दिया। एक ओर जहां अयोध्या में अगले माह 22 जनवरी को होने वाले राम मंदिर के उदघाटन के मद्देनजर भगवान राम के आगमन को शानदार तरीके से नृत्य नाटिका के जरिए प्रस्तुत किया गया तो लोगों ने तालियों की गड़गड़ाहट से स्वागत किया। इस दौरान ऐसा लगा कि ये विद्यार्थी नहीं बल्कि रंगमंच के मंझे हुए कलाकार प्रस्तुति दे रहे हों। वहीं दूसरी ओर भारत में इसरो, एलवीएम 3 सहित अन्य मिसाइल का मॉडल के जरिये विज्ञान की उन्नति के बारे में बताया गया। प्रेसिडेंसी स्कूल के मैनेजर मनोज शर्मा की दूरगामी सोच की वजह से विद्यार्थियों को प्रतिवर्ष किसी नए विषय पर आधारित कार्यक्रम में अपनी प्रतिभा का प्रदर्शन करने का मौका मिलता है। कार्यक्रम के प्रारंभ में प्रेसिडेंसी स्कूल की प्रिंसिपल शालिनी मल्होत्रा ने वार्षिक प्रतिवेदन प्रस्तुत किया। कार्यक्रम का संचालन हेड गर्ल नैना शर्मा व हेड ब्वॉय विवेक यादव ने किया। इस मौके पर प्रेसिडेंसी स्कूल के चेयरमैन वाईपी पुरंग,  मैनेजर मनोज शर्मा, ममता मॉडर्न स्कूल दिल्ली की प्रिंसिपल पल्लवी शर्मा, जयपुर डिस्कॉम के एक्सईएन (मीटर सेक्शन) रूप सिंह गुर्जर, गोपीनाथ हॉस्पिटल के संचालक डॉ नीरज अग्रवाल व ममता अग्रवाल, राहत अस्पताल के एमडी डॉ अनिल अग्रवाल, सिटी नर्सिंग होम के एमडी रूपसिंह, भुवनेश दत्त व्यास सहित कई गणमान्य लोग उपस्थित थे।
वार्षिकोत्सव में राजस्थानी नृत्य प्रस्तुत करती छात्राएं।

 विद्यार्थियों की प्रस्तुतियों ने किया भाव विभोर

वार्षिकोत्सव में विद्यार्थियों ने सांस्कृतिक कार्यक्रम में अपने नृत्य से राजस्थान की कला व संस्कृति से परिचय कराया। वहीं छोटे बच्चों ने अपनी प्रस्तुति से प्रकृति संरक्षण का संदेश दिया। इसके अलावा बच्चों ने लघु नाटिका के जरिए नई शिक्षा नीति 2020 से शिक्षा जगत में हुई क्रांति के बारे में बताया।

प्रेसीडेंसी स्कूल की आर्ट्स टीचर प्रेमलता वर्मा को टीचर ऑफ द ईयर के रूप में सम्मानित करते अतिथि।

 स्कूल प्रबंधन ने किया प्रतिभाओं का सम्मान

प्रेसीडेंसी स्कूल के हेड ब्वॉय विवेक यादव को स्टूडेंट्स ऑफ द ईयर का एसके शर्मा मेमोरियल अवार्ड देते अतिथि।
प्रेसीडेंसी स्कूल के फुटबॉल कैप्टन हर्ष राठी को स्पोर्ट्स पर्सन आफ द ईयर के रूप में सम्मानित करते अतिथि।
 प्रेसिडेंसी स्कूल के वार्षिकोत्सव में स्कूल प्रबंधन की ओर से दसवीं व बारहवीं में सर्वाधिक अंक लाने वाले विद्यार्थियों को सम्मानित किया गया। इसके अलावा स्पोर्ट्स व अन्य गतिविधियों में स्कूल का नाम रोशन करने वाले विद्यार्थियों को अवार्ड से नवाजा गया। फुटबॉल कप्तान हर्ष राठी को स्पोर्ट्स पर्सन ऑफ द ईयर तथा हेड ब्वॉय विवेक यादव को एसके शर्मा मेमोरियल स्टूडेंट्स ऑफ द ईयर के रूप में पुरस्कृत किया गया।  इसके अलावा आर्ट्स टीचर प्रेमलता मेहरा को सर्वश्रेष्ठ टीचर का अवार्ड देकर सम्मानित किया गया।
भगवान राम के अयोध्या आगमन की झांकी प्रस्तुत करते विद्यार्थी।

 शिक्षक संवारते हैं बच्चों का भविष्य, अभिभावक बच्चों की रुचि व अभिरुचि को समझें – वर्मा

वार्षिकोत्सव में मुख्य अतिथि एसजीएसटी जोन भिवाड़ी के अतिरिक्त आयुक्त (एडमिन) राम प्रसाद वर्मा ने शैक्षणिक, खेल व अन्य गतिविधियों में स्कूल का नाम रोशन करने वाले विद्यार्थियों व प्रबंधन को बधाई दी। उन्होंने कहा कि प्रेसिडेंसी स्कूल के शिक्षकों व प्रबंधन की कड़ी मेहनत का प्रतिफल है कि यहां से शिक्षा हासिल करने वाले विद्यार्थी डॉक्टर, इंजीनियर, सीए आदि बनकर स्कूल का नाम रोशन कर रहे हैं। अतिरिक्त आयुक्त राम प्रसाद वर्मा ने कहा कि शिक्षक ही हमारे भाग्य का निर्माता होता है और बच्चों के प्राइमरी कक्षा में आते ही शिक्षक उसको संवारने में जुट जाते हैं तथा युवा शक्ति को दिशा देने में शिक्षकों का अहम योगदान है। मुख्य अतिथि ने कहा कि बच्चों को अपनी संस्कृति को नहीं भूलना चाहिए क्योंकि उसी से संस्कार आता है। उन्होंने कहा कि सभी चाहते हैं कि उनका बेटा डॉक्टर इंजीनियर बने। इसके लिए आवश्यक है उसकी समस्या समझने की कोशिश करें और अच्छे संस्कार दें। बच्चे की रुचि व अभिरुचि को समझें तथा उसी के अनुरूप करियर बनाने दें, तभी वह खुद का व आपका नाम रोशन कर सकेगा।
वार्षिकोत्सव में दीप प्रज्वलित करते प्रेसीडेंसी स्कूल के मैनेजर मनोज शर्मा।
प्रेसिडेंसी स्कूल के वार्षिकोत्सव में उपस्थित अतिथि व अभिभावक।

 

Leave a Comment

Advertisement
चुनाव विकास के आधार पर लड़ा जाना चाहिए या सांप्रदायिकता पर।
  • Add your answer
Advertisement